Maa Ki Mamta Shayari

Maa Ki Mamta Shayari | Maa Par Shayari in Hindi | माँ की ममता शायरी

इस आर्टिकल में आपको माँ कि Maa Ki Mamta Shayari शायरी मिलेगी एकदम नया वाला जो आपको चाहिये वो भी मिलेगा बहुत हैं | जितना चाहिये आप Copy कर सकते हैं | और अपने माँ के लिए प्यारा सा शायरी ले के भेज सकते हैं | और हा अगर आपको और भी शायरी चाहिये तो ये है नाये है ना (Rishte Shayari) हर एक के जीवन में माँ ही एक ऐसी होती हैं जो हमारे दिल में किसी और कि जगह नहीं ले सकती हैं | ये प्रकृति की तरह है हमेशा देने के लिए जानी जाती हैं | बदले में बिना कुछ भी वापस लिये हमसे |

हम उसे अपने जिवन के पहले पल से देखते हैं | जब इस दुनियां में हम पहली आँखे खोलते हैं | जब हम बोलना शुरु करते हैं | तो हमारा पहला शब्द होता हैं माँ | इस धरती पर वो हमारा पहला दोस्त पहला प्यार और शिशक होती हैं | जब हम इस दुनिया में आते हैं तो कुछ भी करने के लायक नहीं होते कुछ भी नहीं जानते लेकिन वो माँ ही जो मुझे अपनी गोद में बड़ा करती हैं | वो हमे इतने काबिल बनाते हैं इतने काबिल बनाते हैं कि हम इस दुनिया को समझ सके इस। दुनिया को जान सके | Maa Ki Mamta Shayari
तो दोस्तों आप सब को हमारी तरफ से आपके अपने माँ का प्यार आपको अपने माँ के लिए शायरी जरूर बताना | अगर आपको ये शायरी पसंद आये तो अपने दोस्तों मे परिवार। मे जरूर शेयर करे।

Maa ki Yaad Shayari

"<yoastmark

रौशनी देती हुई सब लालटेन बुझ गई।
खत नहीं आया जो बेटे का तो माँ बुझ गई।

Ruisni Deti Huei Sab Lalten Bujh Gyi,
Khat Nhi Aaya Jo Bete Ka To Maa Bujh Gyi,


Maa Shayari


शहर के रास्ते हो चाहे गाँव कि पहाँरिया।
माँ कि उंगली थाम के चलना मुझे अच्छा लगा।

Sahar Ke Raste Ho Chahe Gaw Ki Pahariya,
Maa Ki Uangli Tham Ke Chalna Mujhe Achcha Laga,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


खुद को इस भीड़ मे तनहा नहीं होने देगे।
माँ तुझे अभी हम बुढ़ी नहीं होने देगे।

Khud Ko Es Bhir Me Tanha Nhi Hone Dege,
Maa Tujhe Abhi Ham Budi Nhi Hone Dege,





माँ बाप की बुढ़ी आँखो

माँ बाप की बुढ़ी आँखो में इक फ्रिक।
सि छाई रहती हैं।
जिस कमबल में सब सोते थे अब।
वो भी छोटा परता हैं।

Maa Bap Ki Budi Aakho Me Es,
Fhikr Si Chayi Rahti Hai,
Jis Kambal Me Sab Sote The Ab,
Wo Bhi Chota Parta Hai,


Maa Shayari 2 Lines


रोटी खिलाने के लिए माँ मेरे पीछे

आज रोटी के पीछे भागता हूँ।
तो याद आता है मुझे।
रोटी खिलाने के लिए माँ मेरे पीछे।
भागती थी।

Aaj Roti Ke Pichhe Bhagta Hu,
To Yad Aata Hai Mujhe,
Roti Khilane Ke Liye Ma Mere Piche,
Bhagti Thi,


 


जो माँ स्कूल जाने वक्त

आज लाखों रुपये बेकार हैं।
वो एक रुपय के सामने।
जो माँ स्कूल जाने वक्त देती थी।

Aaj Lakho Rupye Bekar Hai,
Wo Ek Rupay Ke Samne,
Jo Ma Sakul Jane Wakt Deti Thi,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


दवा असर ना करे तो नजर उतारती हैं।
माँ हैं जनाब कहाँ हार मानती हैं।

Dawa Asar Na Kre To Najar Utarti Hai,
Maa Hai Janab Kaha Har Manti Hai,.






जब हंसती है मेरी माँ तो

हजारों गम हो फिर भी मै।
खुशी से फूल जाता हूँ।
जब हंसती है मेरी माँ तो।
मैं हर गम भूल जाता हूँ।

Hajaro Gam Ho Fhir Bhi My,
Khusi Se Fhul Jata Hu,
Jab Hasti Hai Meri Ma To,
My Har Gam Bhul Jata Hu,


Maa Ki Mamta Shayari


उपर जिसका अंत नहीं उसे आसमा कहते हैं।
इस जहाँ में जिसका अंत नहीं उसे माँ कहते हैं।

Upar Jiska Aanat Nhi Use Aasma Kahte Hai,
Es Jaha Me Jiska Aanat Nhi Use Ma Kahte Hai,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


और याद आ जाती हैं माँ

पुछता हैं मुझसे जब कोई कि दुनिया में।
मुहब्बत अब बची है कहाँ।
मुस्कुरा देता हूँ मैं।
और याद आ जाती हैं माँ।

Puchta Hai Mujhse Jab Koei Ki Duniya Me,
Muhbbt Ab Achi Hai Kaha,
Muskura Deta Hu My,
Our Yad Aa Jati Hai Maa,


••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••


ना जाने क्या था माँ की उस

ना जाने क्या था माँ की उस फूँक मे।
हर चोट ठीक हो जाया करती था।
माँ की हल्की सी एक चपत जमीन को।
सारा दर्द ही गायब कर दिया करती थी।

Na Jane Kya Tha Ma Ki Us Fhuk Me,
Har Chot Thik Ho Jaya Karti Thai,
Ma Ki Halku Si Ek Chapt Jamin Ko,
Sara Dard Hi Gayab Kar Diya Karti Thi,






"<yoastmark

जोमागू वो दे दिया कर ये ज़िन्दगी।
तू बस मेरी माँ की तरह बन जा।

Jo Magu Wo Diya Kar Ye Jiandgi,
Tu Bas Meri Maa Ki Tarah Ban Ja,


 


भूख तो एक रोटी से भी मिट जाती हैं।
अगर थाली कि वो रोटी तेरे हाथ कि होगी।

Bhukh To Ek Roti Se Bhi Mit Jati Hai,
Agar Thali Ki Wo Roti Tere Hath Ki Hogi,


Maa ke upar shayari in english


जन्नत का हर लम्हा दीदार किया था।
गोद में उठा कर जब माँ ने प्यार किया था।

Jannt Ka Har Lamha Didar Kiya Tha,
God Me Utha Kar Jab Ma Ne Payar Kiya Tha,





बुलंदियों का बड़े से बड़ा निशान हुआ।
उठाया गोद में माँ तो आसमान हुआ।

Buladiyo Ka Bre Se Bara Nisan Huaa,
Uthaya God Me Maa To Aasman Huaa,


एक माँ के दिल कि


एक माँ के दिल कि आवाज।
कम से बच्चो के होंठों कि हँसी की ख़ातिर।
ऐसे मिट्टी मे मिलाना कि खिलौना हो जाए।

Ek Maa Ke Dil Ki Aawaj,
Kam Se Bachho Ke Hotho Ki Hasi Ki Khatir,
Yese Mitti Me Milana Ki Khiluna Ho Jaye,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


ऐसे तो उससे मोहब्बत मे कमी होती हैं।
माँ का एक दिन नहीं होता सदी होती हैं।

Yesw To Usse Mohbbt Me Kami Hoti Hai,
Maa Ka Ek Din Nhi Hota Sadi Hoti Hai,



उसने मुझे एक थप्पड़ मारा और खुद रोने लगी।
सबको खिलाया और खुद बिना खाये सोने लगी।

Usne Mujhe Ek Thapor Mara Our Khud Rone Lagi,
Sabko Khilaya Our Khud Bina Khaye Sone Lagi,


Maa ki Yaad Shayari


सीधा साधा भोला भाला मैं ही सबसे सच्चा हूँ।
कितना भी हो जाऊ बड़ा माँ आज भी तेरी सामने बच्चा हूँ।

Sidha Sadha Bhola Bhala My Hi Sabse Bacha Hu,
Kitna Bhi Ho Jau Bara Maa Aaj Bhi,
Teri Samne Bachha Hu,





घुटनों से रेंगते रेंगते जब पैरों पर खड़ा हो गया।
माँ तेरी ममता के छाव मे ना जाने कब बड़ा हो गया।

Ghuthno Sw Rwgte Regte Jab Pairo,
Par Khara Ho Gya,
Maa Teri Mamta Ke Chhaw Me Na Jane,
Kab Bra Ho Gya,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


याद रखना कि बस माँ बाप

सबकुछ मिल जाता हैं दुनिया में मगर।
याद रखना कि बस माँ बाप नहीं मिलते।
मुरझा कर जो गिर गए जो एक बार डाली से।
ये ऐसे फूल हैं जो फिर नहीं खिलते।

Sabkuch Mil Jata Hai Duniya Me Magar,
Yad Rakhna Ki Maa Bap Nhi Milte,
Murjha Kar Jo Gir Gye Jo Ek Bar Dali Se,
Ye Yese Fhul Hai Jo Fhir Nhi Khite,


 


तेरे कदमों में ये सारा जहां होगा एक दिन।
माँ के होंठों पे तबस्सुम को सजाने वाले।

Tere Kadmo Me Sara Jaha Hoga Ek Din,
Maa Ke Hotho Pe Tabssum Ko Sajane Wale,





Maa Shayari 2 Lines


"<yoastmark

सख्त राहो में भी आसान सफर लगता हैं।
ये मेरी माँ की दुआओ का असर लगता हैं।

Sakht Raho Me Bhi Aasan Safhar Lagta Hai,
Ye Meri Ma Ki Duaao Ka Asar Lagta Hai,


 


वो दिन भर सबके लिए दौड़ती खटती हैं।
जब से हुआ बिमार मेरे हिस्से की दर्द धोने लगी।

Wo Din Bhar Sabke Liye Durti Khatti Hai,
Jab Se Huaa Bimar Mere Husse Ki Dard Dhone Lgi,


 


मेरी माँ हैं सब कुछ जानती

उसे है ईश्वर ने बनाया कुछ इस तरह कि।
अपने दिल में किसी को भी दे दे वो जगह।
बस थोड़ा सम्मान और आदर है मागती।
मेरी माँ हैं सब कुछ जानती।

Use Hai Easwar Banaya Kuchh Es Tarah Ki,
Apne Dil Me Kisi Ko Bhi De De Wo Jagah,
Bas Thora Samman Our Aadar Hai Magti,
Meri Maa Hai Sab Kuchh Janti,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


जब तक रहा हूँ धूप में चादर बना रहा।
मैं अपनी माँ की आखरी ज़ेवर बना रहा।

Jab Tak Rha Hu Dhup Me Chadar Bna Rha,
My Apni Maa Ki Aakhri Jewer Bna Rha,







बुजुगों का मेरा दिल से अभी तक डर नहीं जाता।
कि जब तक जागती रहती माँ मै घर नहीं जाता।

Bujurgo Ka Mera Dil Se Abhi Tak Dar Nhi Jata,
Ki Jab Tak Jagti Rahti Maa My Ghar Nhi Jata,


माँ का लाडला शायरी


खाने कि चीजें माँ ने जो भेजी है गाँव से।
बांसी हो गई मगर लज्जत वही रही।

Khane Ki Chije Maa Ne Bheju Hai Gaw Se,
Basi Ho Gyi Magar Ljajt Wahi Rhi,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


चलती फिरती आँखो से अजाँ देखी है।
मैने जन्नत नहीं देखी माँ जरूर देखी है।

Chalti Fhirtu Aakho Se Aja Deti Hai,
Maine Jannt Nhi Dekhi Maa Jarur Dekhi Hai,






सरफिरे लोग हमे दुश्मन ए जा कहते है।
हम जो इस मुल्क कि मिट्टी को भी माँ कहते हैं।

Sarfire Log Hame Susman Y Ja Kahte Hai,
Ham Jo Ek Mulk Ki Mitti Ko Bhi Ma Kahte Hai,


Maa ki Yaad Shayari


मैने कल सब चासतो कि सब किताबें फार दि।
सिर्फ एक कागज पे लिखा लफ्ज ऐ माँ रहने दो।

Maine Kal Sab Chahte Ki Kitabe Fhar Di,
Shirf Ek Kagaj Pe Likha Lafhaj Ye Ma Rahne Do,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


हादसों गर्द से खुद को बचाने के लिए माँ।
हम अपने साथ बस तेरी दुआ ले जाएंगे।

Hadso Gard Se Khud Ko Bchane Ke Liye Maa,
Ham Apne Sath Bas Teri Duaa Le Jayege,





"<yoastmark

खुदा ने ये सिफ़त दुनिया कि हर औरत को बख्शी है।
कि वो पागल भी हो जाए तो बेटे याद रहते हैं।

Khuda Ne Ye Sifhat Duniya Ki Har Ourat Ko Baksi Hai,
Ki Wo Pagal Bhi Ho Jaye To Bete Yad Rahte Hai,


Maa Ki Mamta Shayari


थाम कर उँगली मेरी मुझ को हर कदम पर चलना सिखाया।
आज भी गिरता हूँ कही तो सबसे पहले उठाती हैं माँ।

Tham Kar Uagli Meri Mujh Ko Har Kadam,
Par Chalna Sikhaya,
Aaj Bhi Girta Hu Kahi To Sabse Pahle Uthati Hai Maa,






माँ तो माँ होती हैं बच्चो में इसकी जान होती हैं।
चार दिवारी मकान को घर बना कर सजाती हैं माँ।

Maa To Maa Hoti Hai Bachho Me Easki Jan Hoti Hai,
Char Diwari Makan Ko Ghar Bna Kar Sajati Hai Maa,



माँ तो जन्नत का फूल हैं

माँ तो जन्नत का फूल हैं प्यार करना उसका उसूल हैं।
दुनिया कि मोहब्ब फिजूल है माँ कि हर दुआ कुबुल हैं।
माँ को नाराज करना इंसान तेरी भूल हैं।
माँ के कदमों की मिटटी जन्नत की धुल हैं।

Maa To Jannt Ka Fhul Hai Payar Karna Uaska Uusel Hai,
Duniya Ki Mohbbt Fhijul Hai Maa Ki Har Duaa Kubul Hai,
Ma Ko Naraj Karna Eansan Teri Bhul Hai,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


माँ कि गोद में सर रख

माँ कि गोद में सर रख लू तो एक सुकून सा मिलता हैं।
खुद परेशान हो फिर भी सबसे हाले दिल।
अपनी छुपाती हैं माँ।

Ma Ki God Me Sar Rakh Lu To Ek Sukun Sa Milta Hai,
Khud Paresan Ho Fhir Bhi Sabse Hale Dil,
Apni Chupati Hai Maa,






हम उस माँ को वक्त के साथ

क्यों भूल जाते हैं हम उस माँ को वक्त के साथ साथ।
नहीं रहता हमको उसका कोई ख्वाब क्या होता होगा।
उस माँ का दिल का हाल जिसने हमारे लिए भूला दिया।
अपना हर एक सपना।

Kyu Bhul Jate Hai Ham Uas Maa Ko Wakt Ke Sath Sath,
Nhi Rahta Hamko Uaska Koei Khay Kya Hota Hoga,
Uas Maa Ka Dil Ka Hal Jisne Hamare Liye,
Bhula Diya Apna Har Ek Sapna,


Maa Ke Liye Shayari


हम खुद को हि तड़पाये

क्या वजूद होगा जो हम उनको भूल जायें।
फिर कभी तन्हाई में हम खुद को हि तड़पाये।
रोये हम बेहिसाब कोई आँसू पूछने ना आये।
खुद को यूही कोसते रहे और बस पछताये।

Kya Wajud Hoga Jo Ham Uanko Bhul Jaye,
Fhir Kabhi Tanhaei Me Ham Khud Ko Hi Tarpaye,
Roye Ham Behisab Koei Aasu Puchne Na Aaye,
Khud Ko Yuhi Koste Rhe Our Bas Pachtaye,



माँ तेरी याद सताती हैं

माँ तेरी याद सताती हैं मेरे पास आ जाओ थक गया हूँ।
मुझे अपने आँचल में सुलाओ उंगलियां फेर कर बालो में।
मेरे एक बार फिर से बचपन की लोरिया सुनाओ।

Maa Teri Yad Satati Hai Mere Pas Aa Jaoo,
Thak Gya Hu,
Mujhe Apne Aachal Me Sulaoo Uangliya Fher,
Kar Balo Me,
Mere Ek Bar Fhir Se Bachpan Ki Loriya Sunaoo,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


जिसने हमको माँ का प्यार दिलाया

खुदा कि रहमत हैं हम पर जो उसका प्यारा मिला।
जन्नत सी कई हसीन यादो का उपहार मिला।
क्यों करे हम उस खुदा से कोई शिकवा कोई गिला।
जिसने हमको माँ का प्यार दिलाया ।
जिसको पाकर मै और तू खिला।

Khuda Ki Rahmat Hai Ham Par Jo Uaska Payar Mila,
Jannt Si Kaei Hasin Yado Ka Uaphar Mila,
Kyo Kare Ham Khuda Se Koei Sikwa Koei Gila,
Jisne Hamko Maa Ka Payar Dilaya,
Jisko Pakar My Our Tu Khila,





माँ तेरे दुध का हक मुझसे अदा क्या होगा।
तू हैं नाराज तो खुश मुझसे खुदा क्या होगा।

Ma Tere Thud Ka Hak Mujhse Ada Kya Hoga,
Tu Hai Naraj To Khus Mujhse Khuda Kya Hoga,


Maa Shayari Faraz


ना जाने माँ क्या मिलाया करती हैं आटे मे।
कि घर जैसी रोटी और कही मिलती नहीं।

Na Jane Maa Kya Milaya Karti Hai Aate Me,
Ki Ghar Jaisi Roti Our Kahi Milti Nhi,


 


"<yoastmark

ना जाने क्यों आज के इंसान इस बात से अनजान है।
छोड़ देते हैं बुधापे मे जिसे वो माँ तो एक वरदान हैं।

Na Jane Kyo Aaj Ke Eansan Es Bat Se Anjan Hai,
Chor Dete Hai Budape Me Jise Wo Maa To Ek Wardan Hai,



एक मुद्दत हुई मेरी माँ नही सोई तबसे।
मैने सिर्फ एक बार कहाँ था कि मुझे डर लगता हैं।

Ek Muddt Huei Meri Ma Nhi Soei Tabse,
Maine Shirfh Ek Bar Kaha Tha Ki Mujhe Dar Lagta Hai,


 


लबों पर उसके कभी बददुआ नही होती।
बस एक माँ हैं जो मुझसे कभी खफा नहीं होती।

Labo Par Uasko Kabhi Baddua Nhi Hoti,
Bas Ek Maa Hai Jo Mujhse Kabhi Kafha Nhi Hoti,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने।
भला कैसे कह दू कि माँ अनपढ है मेरी।

Gin Leti Hai Din Beger Mere Gujare Hai Kitne,
Bhala Kaise Kah Du Ki Ma Anpath Hai Meri,





मागने पर जहाँ पुरी हर मन्नत होती हैं।
माँ के पौरो मे ही तो जन्नत होती हैं।

Magle Par Jaha Puri Har Mannt Hoti Hai,
Maa Ke Pairo Me Hi To Jannt Hoti Hai,


माँ की दर्द भरी शायरी


किसी भी मुश्किल का अब किसी को हल नहीं मिलता।
शायद अब घर से कोई माँ का पौर छू कर नहीं निकलता।

Kisi Bhi Muskil Ka Ab Kisi Ko Hal Nhi Milta,
Sayad Ab Ghar Se Koei Maa Ka Pair Chu Kar Nhi Niklta,


 


किसी को घर मिला किसी के हिस्से में दुकान आई।
मैं घर में सबसे छोटा था मेरे हिस्से में माँ आई।

Kisi Ko Ghar Mila Kisi Ke Hisse Me Dukan Aayi,
My Ghar Me Sabse Chota Tha Mere Hisse Me,
Maa Aayi,



इस तरह वो तेरे गुनाहो को धो देती हैं।
माँ बहुत गुस्से में होती हैं तो रो लेती है।

Es Tarah Wo Tere Gunaho Ko Dho Deti Hai,
Maa Bahut Gusse Me Hoti Hai To Ro Leti Hai,


🌹••••••••• Maa Ki Mamta Shayari •••••••❣️


मै रात भर जन्नत की सैर करता रहा यारों।
सुबह आँख खुली तो सर माँ के कदमों में था।

My Rat Bhar Jannt Ki Sair Karta Rha Yari,
Subah Aakh Khuli To Sar Maa Ke Kadmo Me Tha,





माँ हैं तो फिर सब कुछ है इस जहां में।
कौन कहता हैं यहाँ जन्नत नहीं मिलती।

Maa Hai To Fhir Sab Kuchh Hai Es Jaha Me,
Kuain Kahta Hai Yaha Jannt Nhi Milti,


Shayari on Maa Ki Dua


"<yoastmark

माँ से बड़कर कोई

माँ से बड़कर कोई नाम नही होता।
इस नाम का हमसे ऐतराम नहीं होता।
जिसके पौरो के नीचे जन्नत है।
उसके सर का मका़म क्या होगा।

Maa Sw Barkar Koei Nam Nhi Hota,
Es Nam Ka Hamse Yetwar Nhi Hota,
Jiske Pairo Ke Niche Jannt Hai,
Uaske Sar Ka Makam Kya Hoga,


 


ऐ अंधेरे देख ले मुंह तेरा काला हो गया।
माँ ने आँखे खोल दी घर में उजाला हो गया।

Ye Adhere Dekh Le Muh Tera Kala Ho Gya,
Maa Ne Aakhe Khol Di Ghar Me Ujala Ho Gya,





माँ ख़्वाहिश हैं कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊ।
माँ से इस तरह लिपट जाउ कि बच्चा हो जाऊ।

Maa Khuwahis Gai Ki My Fhir Se Fharista Ho Jauu,
Maa Se Es Tarah Lipat Jauu Ki Bachha Ho Jauu,


 


अभी जिन्दा हैं माँ मेरी मुझे कुछ भी नहीं होगा।
मैं जब घर से निकालता हूँ दुआ भी साथ चलती हैं।

Abhi Jinda Hai Maa Meri Mujhe Kuchh Bhi Nhi Hoga,
My Jab Ghar Se Niklta Hu Duaa Bhi Sath Chalti Hai,


 


मैने रोते हुए पोछे थे किसी दिन आंसू।
मुद्दतो माँ ने नहीं धोया दुपट्टा अपना।

Maine Rote Huye Poche The Kisi Din Aasu,
Muddto Maa Ne Nhi Dhoya Duptta Apna,





Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *